किसाना रो मेळो ‘ग्राम’ चोखो लाग्यो, म्हानै इको घणों फायदो होवलो

1200-600

मैं अजय सिंह, श्रीगंगानगर ज़िले से करीब 15 किलोमीटर दूर मदेरां गांव का निवासी हूँ| हमारा पुश्तैनी काम खेती बाड़ी का ही है और इसी से मेरा और मेरे गांव में लोगों का गुज़र-बसर होता है| कई पीढ़ियों से चलने वाली खेती-बाड़ी की समझ तो हमें हमारे बुज़ुर्ग बचपन से ही देना शुरू कर देते हैं पर बदलते वक़्त के साथ खेती में नित नयी तकनीक आती रहती है| शहर से करीबी न होने के कारण तकनीकों को समझ पाना और उन्हें फसल में बढ़ोतरी करने के प्रयोग में लाना थोड़ा परेशानी का सबब बन जाता है|

कुछ दिनों पहले जब मैं पंचायत में बैठा था तब बातों-बातों में पता चला की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार नवम्बर माह में ‘ग्राम’ का आयोजन कर रही है| पहले तो समझ ही नहीं आया की ग्राम आखिर है क्या, फिर पंचायत समिति के कार्यकर्ता ने समझाया की ‘ग्राम’ यानी ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट जिसमें दुनियाभर की कृषि से संबंधित तकनीकों एवं नवाचारों से किसानों को अवगत करवाया जायेगा| श्रीमती वसुंधरा राजे के नेतृत्व वाली सरकार चाहती है की किसानों की आय वर्ष 2020 तक दुगनी हो जाये इसके लिए हरसंभव कोशिश की जाएगी और ग्राम इस लक्ष्य की पूर्ति हेतु एक महत्वपूर्ण कदम है|

मैं पहले तो थोड़ा झिझक रहा था क्योंकि ‘ग्राम’ का आयोजन जयपुर में हो रहा था पर फिर मन बना लिया की आखिर जाकर देखूं तो की मैं खेती में क्या नया कर सकता हूँ और कैसे नयी तकनीक का इस्तेमाल कर आगे बढ़ सकता हूँ| गांव से अपने कुछ सगे-सम्बन्धियों को ले कर मैं ग्राम में सम्मिलित होने के लिए जयपुर आ गया| यहाँ आकर आँखें फटी की फटी रह गयी, न केवल देशी बल्कि विदेशी तकनीकों का यहाँ अंबार लगा था|

सबसे पहली चीज़ जो हमने जाना की प्रदेशभर से 23 लाख मिट्टी के नमूने इकट्ठा कर, मिट्टी कितनी उपजाऊ है इसके लिए एक कार्ड जारी होगा | उसके बाद हमने सोलर पंप देखा। गांवों में बिजली की कटौती होने पर उसका अच्छा इस्तेमाल किया जा सकेगा। नवीन कृषि युग में मूल्य संवर्द्वन एवं विपणन समाधान तथा डेयरी एवं पशुपालन द्वारा टिकाउ आजीविका विषय पर विशेषज्ञों द्वारा जानकारी प्राप्त की| जैतून और खजूर की खेती से कैसे आय में बढ़ोतरी करें इसकी जानकारी भी मिली|

‘ग्राम’ से हम किसान भाई कितना कुछ सीख के आये थे और हम यह सब अपने और भाइयों से बाँटने को उत्सुक थे| जब वापस गांव पहुंचे तो जाना की ‘ग्राम’ का सीधा प्रसारण जिला स्तरीय जन सुविधा केन्द्र एवं पंचायत समिति स्तरीय वीडियों कॉन्फ़्रेंसिंग हॉल पर भी हुआ था और मेरे बाकी भाइयों ने वही जिले जन प्रतिनिधियों एवं अन्य लोगों के साथ सीधा प्रसारण देखा एवं कृषि संबंधी ज्ञान प्राप्त किया|

किसान अपनी समस्याएं आमतौर पर किसी के साथ साझा नहीं कर पाते ऎसे में ‘ग्राम’ के आयोजन ने सरकार और किसान के बीच संवाद बढ़ाने और उनकी समस्याओं का समाधान करने का मौका दिया| वाह! यह बात दिल को छू गयी| श्रीमती वसुंधरा राजे की सरकार सचमुच हम किसान भाइयों को आगे बढ़ने का मौका दे रही और इस ओर हर संभव कोशिश कर रही है| जय जय राजस्थान|

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s